मुखपृष्ठ
×

बेसाल्ट
बेसाल्ट




ADD
Compare

बेसाल्ट

1 व्याख्या
1.1 व्याख्या
बेसाल्ट एक एक्सट्रुसिव समस्त अग्निमय चट्टान है जो तभी बनता है जब बेसाल्ट लावा को तेजी से ठंड किया जाता है।
1.2 इतिहास
1.2.1 उद्गम
इजिप्त
1.2.2 आविष्कर्ता
गओरगिस आग्रिकोला
1.3 व्युत्पत्ति
लैटिन बासल्ट्स से, एक सख्त पत्थर है, जो प्राचीन यूनानी बसानाइट्स से आयात किया गया था
1.4 कक्षा
अग्निमय चट्टानें
1.4.1 उप-कक्षा
टिकाऊ चट्टान, मध्यम कठोर चट्टान
1.5 जाति
1.5.1 समूह
ज्वालामुखी
1.6 अन्य श्रेणियाँ
सूक्ष्म कणों से बनी चट्टान, अपारदर्शी चट्टान
2 बनावट
2.1 बनावट
कांच सदृश, बड़ा, पॉरफायरिटिक, स्कोरिअशियस, खंखरा
2.2 रंग
काला, भूरा, हलके से गहरा ग्रे
2.3 परवरिश
अधिक
2.4 स्थायित्व
टिकाऊ
2.4.1 जल प्रतिरोधी
81% Igneous Rocks चट्टानें have it !
2.4.2 खरोंच प्रतिरोधक
86% Igneous Rocks चट्टानें have it !
2.4.3 दाग प्रतिरोधी
66% Igneous Rocks चट्टानें have it !
2.4.4 हवा प्रतिरोधी
49% Igneous Rocks चट्टानें have it !
2.4.5 एसिड प्रतिरोधी
48% Igneous Rocks चट्टानें have it !
2.5 स्वरुप
बोथरा और मुलायम
3 उपयोग
3.1 स्थापत्य
3.1.1 आंतरिक उपयोग
फर्श की टाइलें, घर, होटल, रसोई
3.1.2 बाहरी उपयोग
इमारत शिला के रूप में, पक्की सड़क का पत्थर, बगीचे की सजावट, कार्यालय भवन
3.1.3 अन्य स्थापत्य संबंधी के उपयोग
नियंत्रण करने के लिये, व्हेटस्टोन्स
3.2 उद्योग
3.2.1 निर्माण उद्योग
आरोहेडस, आयाम पत्थर के रूप में, रस्तों का पत्थर, काटने का औजार, रेल ट्रैक की गिट्टी, रोडस्टोन
3.2.2 चिकित्सा उद्योग
अभी तक इस्तेमाल नहीं
3.3 पुरातनकालीन उपयोग
कलाकृतियाँ, स्मारक
3.4 अन्य उपयोग
3.4.1 व्यावसायिक उपयोग
तेल और गैस कुण्ड, कोम्मेमरेटिव टैबलेट्स, कलाकृति बनाने के लिये, एक्वैरियम में उपयोगी
1 प्रकार
1.1 प्रकार
अल्कलाइन बेसाल्ट, बोननाइट, हाइ एल्युमिना बेसाल्ट, मध्य महासागर रिज बेसाल्ट ,थोलेईटिक बेसाल्ट, बेसाल्टिक ट्रकयांडेसाइट , मुगीराइट और शोषोनाईट
2.2 विशेषताएं
अपक्षरण और मौसम के खिलाफ उच्च संरचनात्मक प्रतिरोध किया है, बहुत महीन दानेदार रॉक
2.3 पुरातात्विक महत्व
2.4.1 स्मारक
उपयोग किया गया
2.4.3 प्रसिद्ध स्मारक
पोलीनेसियन ट्रायंगल, प्रशांत महासागर में ईस्टर आइलैंड, मुंबई, भारत में गेटवे ऑफ इंडिया, कर्नाटक, भारत में गोल गुम्बज
2.4.5 मूर्ति
उपयोग किया गया
2.5.1 प्रसिद्ध मूर्तियाँ
डेटा उपलब्ध नहीं
2.6.1 चित्रालेख
उपयोग किया गया
2.6.3 पेट्रॉलीफ़्स
उपयोग किया गया
2.7.1 मूर्तियाँ
उपयोग किया गया
2.8 जीवाश्म
मौजूद नहीं
3 निर्माण
3.0 गठन
जब सक्रिय ज्वालामुखी के पास लावा पृथ्वी की सतह तक पहुँचता है तब बेसाल्ट तैयार होता है। लावा जब पृथ्वी की सतह तक पहुँचता है तब उसका तापमान 1250 डिग्री सेल्सियस 1100 के बीच रहता है।
4.2 रचना
4.2.1 खनिज मात्रा
ऑलीवाइन, प्लेजिओक्लेस, पाइरॉक्सीन
4.3.1 यौजिक मात्रा
अल्यूमिनियम ऑक्साइड, CaO, आयरन (III) ऑक्साइड, FeO, पोटेशियम ऑक्साइड, MgO, MnO, सोडियम ऑक्साइड, फॉस्फरस पेंटॉक्साइड, सिलिकॉन डाइऑक्साइड, टिटेनियम डाइऑक्साइड
4.5 परिवर्तन
4.6.1 कायांतरण
97% Igneous Rocks चट्टानें have it !
4.6.3 कायांतरण के प्रकार
संपर्क कायांतरण
4.6.4 अपक्षय
99% Igneous Rocks चट्टानें have it !
4.6.6 अपक्षय के प्रकार
जैविक अपक्षय
4.6.8 अपक्षरण
92% Igneous Rocks चट्टानें have it !
4.6.10 अपक्षरण के प्रकार
उपलब्ध नहीं है
5 गुण
5.1 भौतिक गुण
5.1.2 काठिन्य
6
5.1.3 दाने का आकार
महीन दानेदार
5.2.1 भंजन
शंखाभ
6.0.2 रेखा
सफेद से ग्रे
6.1.2 रंध्रमयता
कम छिद्रपूर्ण
6.1.4 तेज
उपलब्ध नहीं है
6.1.5 दबाव की शक्ति
फ्लिंट
37.40 न्यूटन/मिमी 2
Rank: 28 (Overall)
ओब्सीडियन
9.1.8 दरार
उपलब्ध नहीं है
9.1.9 कठोरता
2.3
9.1.10 विशिष्ट गुरुत्व
2.8-3
9.1.11 पारदर्शकता
अपारदर्शी
9.1.12 घनत्व
2.9-3.1 ग्राम / सेमी3
9.2 उष्णता सम्बन्धी गुण
9.2.1 विशिष्ट ऊष्मा क्षमता
बैंडेड आयरन फार..
0.84 जूल / किलोग्राम केल्विन
Rank: 15 (Overall)
ग्राणुलाइट
9.3.2 प्रतिरोध
ऊष्मा प्रतिरोधी, दबाव प्रतिरोधी, टिकाऊ रोधी
10 रिज़र्व्स
10.1 पूर्वी महाद्वीपों में अवशेष
10.1.1 एशिया
भारत, रूस
10.1.2 अफ्रीका
दक्षिण अफ्रीका
10.1.3 यूरोप
आइसलैण्ड
10.1.4 अन्य
अभी तक मिले नहीं
10.2 पश्चिमी महाद्वीपों में अवशेष
10.2.1 उत्तरी अमेरिका
कनाडा, अमेरीका
10.2.2 दक्षिण अमेरिका
ब्राज़िल
10.3 ओशिनिया महाद्वीप में अवशेष
10.3.1 ऑस्ट्रेलिया
अभी तक मिले नहीं
Let Others Know
×